शासकीय, स्वास्थ एवं यातायात व्यवस्था पर नही होगा बंद का असर
बंद में जोर जबरदस्ती नही, पूर्णतः ऐच्छिक होगा बंद

इंदौर। पुलवामा में १४ फरवरी को हुए आतंकी हमला में शहीद हुए वीर जवानों को श्रद्धांजलि देने के साथ ही पाकिस्तान को सबक सिखाने व कश्मीर से धारा ३७० हटा कर पाकिस्तान की कमर तोड़ने की मांग को लेकर दिनांक १८ फरवरी २०१९ को भारत बंद का ऐलान आल मीडिया जर्नलिस्ट सोशल वेलफेयर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सचिन कासलीवाल द्वारा किया गया है श्री कासलीवाल का कहना है कि हम सरकार का ध्यान आकर्षित करने के लिए बंद कर रहे है किंतु देश की आर्थिक मजबूती पर कोई असर ना हो इसलिए संगठन के संस्थापक समिति के अध्यक्ष विनायक अशोक लुनिया इंदौर एवं उपाध्यक्ष आदित्य नारायण बैनर्जी कोलकाता ने यह बात कही है कि किसी भी प्रकार का देश को आर्थिक नुकसान का सामना नही करना पड़े इस हेतु बंद सिर्फ दोपहर १२ बजे तक ही रहे। 

सरकारी कार्य व्यवस्था, स्वास्थ व यातायात व्यवस्था बंद से बाहर
संगठन  राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मनीष कुमट एवं राष्ट्रीय प्रवक्ता शिव चौरसिया ने कहा कि बंद का असर किसी प्रकार से सरकारी काम काज एवं स्वास्थ्य व यातायात पर नही पढ़ना चाहिए जिससे देश की गति रुके नही निरंतर चलती रहे।

संगठन संस्थापक समिति के सदस्य सोमेश पांडे एवं राष्ट्रीय सचिव शैलेश दीक्षित कानपुर ने कहा कि बंद में किसी प्रकार का असामाजिक वातावरण उत्पन ना हो इसलिए हम स्वेच्छिक बंद का आव्हान किये है और स्वास्थ्य, यातायात व्यवस्था के साथ शासकीय कार्य मे किसी प्रकार बाधा उत्पन्न ना हो के साथ बाजार १२ बजे तक बंद रखने का आग्रह किया है।
 
Top